Category: धर्मिक कथाएं

There are four eras in Hindu religion .each has many and long stories. Everyone wants to know the truth of hindu religion. know hindu devotional story 

There is lots of discrimination between writers about devotional story. So, we are here to tell the truth through our site.

There is lots of discrimination between writers about devotional story. know hindu devotional story

You can find out all the ekadashi vrat katha,  masik shivratri , biography of hindu deity, kalashtami, masik durgashtami, holi and all the devotional story.

We try to provide you the entire story which is based on truth. Hindumytholy.org is site. where you can find out everything about hindu religion.

devotional vasant panchmi vrat katha

22 जनवरी 2018 को है वसन्त पंचमी,जानिए व्रत की कथा एवं इतिहास

श्री पंचमी या वसंत पंचमी बंगाल, बिहार तथा झारखण्ड का प्रमुख त्यौहार है इस दिन विद्या की देवी माँ सरस्वती की पूजा की जाती है। वसंत पंचमी अर्थात माँ सरस्वती की पूजा माघ माह...

know mangala gauri vrat

31 जुलाई 2018 को मंगला गौरी व्रत कथा एवम इतिहास

know mangala gauri vrat गौरी पूजा की कथाknow mangala gauri vrat  प्राचीन काल में आनंद नगर में धर्मपाल नामक एक सेठ अपनी पत्नी के साथ सुख पूर्वक जीवन-यापन करता था। धर्मपाल के जीवन में...

devotional bhuvaneshwari jayanti history

21 सितंबर 2018 को भुवनेश्वरी जयंती जानिए वर्त की कथा एवम इतिहास

हिन्दू धर्म के अनुसार भाद्रपद माह की शुक्ल पक्ष की द्वादशी को भुवनेश्वरी जयंती मनाई जाती है। तदनुसार इस वर्ष रविवार 21 सितंबर 2018 को भुवनेश्वरी जयंती मनाई जाएगी। माँ भुवनेश्वरी भगवान शिव जी...

devotional kamada ekadashi history

कामदा एकादशी की कथा एवम इतिहास

हिन्दू धर्म में एकादशी पर्व का अति पावन महत्व है। चैत्र माह में शुक्ल पक्ष की एकादशी को कामदा एकादशी कहा जाता है। पद्म पुराण में कहा गया है की कामदा एकादशी के दिन...

know dayananda sarswati life history

10 फरवरी 2018 को है स्वामी दयानंद सरस्वती जयंती,जानिए इनकी जीवनी

महर्षि स्वामी दयानंद सरस्वती जन्म 12 फरवरी 1824 आर्य समाज के संस्थापक महर्षि स्वामी दयानंद सरस्वती जी का जन्म 12 फरवरी 1824 ई को गुजरात राज्य के राजकोट शहर स्थित रियासत मोरवी के टंकारा नामक गाँव...

0

देवोत्थान एकादशी या देवउठान एकादशी या ‘प्रबोधिनी एकादशी’ history-of-devuthan-ekadashi-ka-itihas

कार्तिक, शुक्ल पक्ष की एकादशी को देवोत्थान एकादशी कहते हैं। दीपावली के ११ वें दिन आने वाली  इस एकादशी को देव उठान एकादशी या ‘प्रबोधिनी एकादशी’ भी कहा जाता है। ऎसी मान्यता है की...

0

नवरात्री दुर्गा पूजा की सुरुआत Navratre, Durga puja first shailputri start 1 October 2016

मां शैलपुत्री, नवरात्रे में प्रथम पूजा अर्थात पहले दिन की पूजा मां चंद्रघंटा के रूप में किया जाता है। माँ शैलपुत्री प्रथम दिन माँ शैलपुत्री की पूजा से नवरात्री दुर्गा पूजा की सुरुआत की...

0

जाहरवीर गोगाजी महाराज का इतिहास एवं कथा history and story of jaharveer googaji

गोगाजी महाराज (सिद्धनाथ वीर गोगादेव)  राजस्थान के लोक  प्रिये देवता हैं। उन्हें जाहरवीर गोगाजी के नाम से भी जाना जाता है । राजस्थान में हनुमानगढ़ जिले का गोगामेड़ी शहर है यहां भादव शुक्लपक्ष की...

0

कर्मा पूजा की कथा और इतिहास karma-pooja-worship-history-and-story-katha-itihas

कर्मा पूजा पर्व आदिवासी समाज का प्रचलित लोक पर्व है इस त्यवहार में एक विशेष नृत्य किया जाता है जिसे कर्मा नृत्य कहते हैं । यह पर्व हिन्दू पंचांग के भादों मॉस की  एकादशी...

0

शनि जयंती का इतिहास व कथा history and story of shanidev jayanti

शनिदेव की जयंती शनि अमावस्या के रूप में जाना जाता है। शनि देव सूर्यदेव केबेटा पुत्र हैं। हमारे देश में उत्तर भारत के लोग में शनि जयंती पुर्णिमा कैलेंडर के अनुसार ज्येष्ठ माह के...

0

विठोबा का इतिहासिक महत्व history-of-vithoba-importance

विठोबा, विट्ठल, और पांडुरंग, तीन नामों से पुकारे जाने वाले भगवान विट्ठल महाराष्ट्र, कर्नाटक, गोवा, तेलंगाना और आंध्र प्रदेश के भारतीय राज्यों में मुख्य रूप से पूजे जाते हैं, भगवान विट्ठल, को आम तौर...

0

माँ कामयख्या देवी मंदिर का इतिहास history-of-maa-kamaykya devi temple

51 शक्तिपीठों में प्रमुख स्थान रखने वाली माँ कामयख्या देवी का मंदिर बेहद खूबसूरत और अपनी एक अलग संस्कृति को लिए हुए भारत वर्ष के पर्वोत्तर में स्थित है। इस मंदिर की महत्वता की...

0

महाशिवरात्रि का इतिहास history-and-satory-of-mahasivaratri

महाशिवरात्रि पर्व की कथा क्या है इस सम्बन्ध में धर्म ग्रन्थ एवं इतिहास क्या कहता है इसका क्या महत्व है इसे मानाने का क्या विधि है और कैसे मनाया जाता है आज हम आपको...

0

जानिये यमुनोत्री का इतिहास history-of-yamunotri

यमुनोत्री मंदिर गढ़वाल हिमालय के पश्चिम में समुद्र तल से 3235 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। हिंदू भगवान यम के साथ हिंदू देवी यमुना की एक मूर्ति मंदिर में विराजमान है। यम को...

0

बद्रीनाथ मंदिर का इतिहास history-of-badrinatha-mandir

बदरीनाथ मंदिर , जो बदरी नारायण मंदिर नाम से भी जाना जाता है , वह अलकनंदा नदी के किनारे उत्तराखंड राज्य में स्थित है। यह मंदिर भगवान विष्णु के रूप बदरीनाथ को समर्पित है।...

0

छठ पूजा का महत्व एवं इतिहास history and importance-of-chatha-puja

छठ महापर्व परमात्मा के प्रत्यक्ष पूजा का सर्व श्रेष्ठ उदाहरण है। छठ पूर्णतया प्रकृति रूपी परमेश्वर के द्धारा मानव को दिए गए विशेष वरदानों को पाने का पावन पर्व है। इस पवित्र ब्रत के...

0

सीता जन्मभूमि स्थान पुनोडा सीतामढी का इतिहास history-of-sita-mata-janmabhumi-sthana-punoda-sitamadhi

सीतामढी जो कभी सीता मड़ई और सीता मई या मयी कहलाती थी। कहा जाता है की जगत जननी माता जानकी का जन्म या प्रकाट्य इसी स्थान में हुआ था। प्राचीन काल में यह मिथिला...

0

पापहरणी लक्ष्मी नारायण मंदिर का इतिहास history-of-papaharani-laksmi-narayaṇa-mandira

पापहरणी लक्ष्मी नारायण मंदिर, बिहार प्रान्त के बांका जिला अंतर्गत बौंसी नगर में स्थित है जो प्रसिद्ध मंदार पर्वत की तराई में अस्थित है। पर्वत के तराई में स्थित यह पावन पवित्र तालाब अपने...