List Of Festivals In April

वेदों, पुराणों एवम शास्त्रों के अनुसार वर्ष के प्रत्येक माह के दोनों पक्षों की त्रयोदशी को प्रदोष व्रत मनाया जाता है। तदनुसार, माघ माह में कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी 2 अप्रैल 2019 को प्रदोष व्रत मनाया जाएगा। prad

3 अप्रैल 2019 को मासिक शिवरात्रि है। हिन्दू धर्म में मासिक शिवरात्रि का भी विशेष महत्व है। जहाँ वर्ष में एक महाशिवरात्रि मनाया जाता है वही वर्ष के प्रत्येक महीने में एक मासिक शिवरात्रि मनाया जाता है।

हिंदी पंचांग के अनुसार इस वर्ष का चैत्र अमावस्या  5 अप्रैल 2019 को है। हिन्दू धर्म में अमावस्या तथा पूर्णिमा का विशेष महत्व है। 

मां शैलपुत्री, चैत्र नवरात्रे में प्रथम पूजा अर्थात पहले दिन की पूजा मां चंद्रघंटा के रूप में किया जाता है।माँ शैलपुत्री प्रथम दिन माँ शैलपुत्री की पूजा

चैत्र माह में शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा को गुड़ी पड़वा या प्रतिपदा या उगादि मनाया जाता है। तदनुसार इस वर्ष गुड़ी पड़वा का पर्व 6 अप्रैल 2019 को मनाया जाएगा। 

उगादी त्यौहार नव वर्ष की ख़ुशी पे मनाया जाता है। यह त्यौहार डेक्कन राज्यों में बहुत ही धूम धाम से मनाया जाता है। यह माना जाता है की ब्रह्मा जिन्होंने इस श्रष्टि को रचा 

झूलेलाल जयंती चैत्र माह में शुक्ल पक्ष की द्वितीया को मनाया जाता है। इस वर्ष झूलेलाल जयंती 7 अप्रैल 2019 को मनाया जायेगा। झूलेलाल जयंती सिंधी समाज का सबसे बड़ा पर्व है। 

हिंदी पंचांग के अनुसार मार्गशीर्ष शुक्ल पक्ष की एकादशी के उपरांत द्वादशी को मत्स्य द्वादशी मनाई जाएगी। मत्स्य द्वादशी के दिन भगवान श्री हरि विष्णु जी ने मत्स्य रूप धारण कर

गौरी पूजन सौभाग्यवती स्त्रियों के लिए अखंड सौभाग्य का वरदान देता है।  हिंदी पंचांग के अनुसार वर्ष का प्रथम गौरी पूजन 8 अप्रैल 2019  को मनाई जाएगी ।

तमिल पंचांग के अनुसार वर्ष के प्रत्येक माह में मासिक कार्तिगाई मनाया जाता है। तदनुसार, जून माह में 8 अप्रैल 2019 को मासिक कार्तिगाई मनाया जाएगा। 

धार्मिक धारणा है की हिन्दू धर्म में भगवान श्री गणेश की पूजा से प्रत्येक शुभ कार्य आरम्भ किया जाता है। भगवान गणेश जी को विघ्नहर्ता भी कहा जाता है। सनातन धर्म में 24 दिन ऐसे होते है जो पूर्णतः भगवान गणेश की आराधना के लिए समर्पित है।

लक्ष्मी पंचमी व्रत हिन्दू धर्म के अति महत्वपूर्ण व्रतो में से एक है। लक्ष्मी पंचमी चैत्र माह में शुक्ल पक्ष की पंचमी को मनाई जाएगी । तदनुासर, वर्ष 2018 का लक्ष्मी जयंती 9 अप्रैल 2019 को मनाई जाएगी । 

हिन्दू धर्म में दुर्गापूजा और दुर्गाष्टमी का बड़ा महत्व है। दुर्गापूजा आश्विन माह में मनाया जाता है जबकि मासिक दुर्गाष्टमी प्रत्येक माह में शुक्ल पक्ष की अष्टमी को होती है। इसे मासिक दुर्गाष्टमी या मास दुर्गाष्टमी कहते है। 

हिन्दू धर्म के अनुसार रामनवमी का पर्व चैत्र माह में शुक्ल पक्ष की नवमी को मनाई जाती है। तदनुसार इस वर्ष में रामनवमी का पर्व 13 अप्रैल 2019 को मनाया जाएगा। रामनवमी पर्व भारतवर्ष में मनाया जाता है।

वैसाखी का पर्व पंजाब सहित उत्तर एवम पूर्व भारत में बड़े ही उत्साह और उमंग से मनाया जाता है। इस समय रबी की फसल पकने से किसानो के चेहरे की चमक देखने लायक होती है।

डॉ. भीमराव अंबेडकर का जन्म 14 अप्रैल 1891 ई को हुआ था। लोग इन्हे बाबासाहेब के नाम से भी जानते है। भारतीय संविधान की रचना में इन्होने महत्वपूर्ण योगदान दिया था।

हिन्दू धर्म में एकादशी पर्व का अति पावन महत्व है। चैत्र माह में शुक्ल पक्ष की एकादशी को कामदा एकादशी कहा जाता है। तदानुसार इस वर्ष 15 अप्रैल 2019 को कामदा एकादशी मनाई जाएगी. पद्म पुराण में कहा गया है

सनातन धर्म के अनुसार चैत्र माह में शुक्ल पक्ष की द्वादशी को वामन द्वादशी मनाया जाता है। तदनुासर,16 अप्रैल 2019 को वामन द्वादशी है। वामन अवतार को भगवान विष्णु का महत्वपूर्ण अवतार माना गया है।

महावीर स्वामी का जन्म ईशा पूर्व 27 मार्च, 598 को मांगलिक प्रभात में वैशाली के गणनायक राजा सिद्धार्थ के घर में हुआ था। शक पंचांग के अनुसार महावीर स्वामी का जन्म चैत्र माह में शुक्ल पक्ष 

वर्ष 2019 चैत्र माह का प्रथम प्रदोष व्रत कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी अर्थात 17 अप्रैल 2019 को है।कलयुग में प्रदोष व्रत का अतुल्य महत्व है, भगवान शिव जी के भक्त श्री सूत जी का कहना है

ईसाई धर्म के अनुसार वर्ष 2019 का गुड फ्राइडे 19 अप्रैल को मनाया जायेगा। गुड फ्राइडे प्रत्येक वर्ष के मार्च या अप्रैल माह में मनाये जाते है। गुड फ्राइडे के दिन ईसाई धर्म के गॉड ईसा मसीह ने धरती पर बढ़ते 

हिन्दू धार्मिक मान्यता के अनुसार चैत्र माह की पूर्णिमा के दिन प्रभु राम भक्त हनुमान जी ने माता अंजनी के गर्भ से जन्म लिया था। इसी के उपलक्ष्य में प्रत्येक वर्ष के चैत्र माह की पूर्णिमा को हनुमान जयंती मनाई जाती है।

हिन्दु धर्म के अनुसार वर्ष के प्रत्येक माह में पूर्णिमा का व्रत रखा जाता है। तदनुसार 19 अप्रैल  2019 को चैत्र पूर्णिमा मनाया जाएगा। चैत्र माह की पूर्णिमा का व्रत करना बेहद शुभ माना जाता है।

वेदों, पुराणों एवम शास्त्रों के अनुसार वर्ष के प्रत्येक माह में कृष्ण पक्ष की अष्ठमी को कालाष्टमी मनाई जाती है। तदनुसार, 26 अप्रैल 2019 को कालाष्टमी है। कृष्ण पक्ष की अष्टमी को कालाष्टमी 

हिंदी पंचांग के अनुसार वल्लभाचार्य जयंती वैशाख माह में कृष्ण पक्ष की एकादशी को मनाया जाता है जबकि तमिल पंचांग के अनुसार यह जयंती चैत्र माह में कृष्ण पक्ष की एकादशी को मनाया जाता है।

हिन्दू धर्म के अनुसार वैशाख माह में कृष्ण पक्ष की एकादशी को बरूथनी एकादशी मनाई जानी जाती है। तदानुसार इस वर्ष 30 अप्रैल 2019 को वरुथिनी एकादशी मनाई जाएगी।