List Of Festivals In July

धार्मिक धारणा है की हिन्दू धर्म में भगवान श्री गणेश की पूजा से प्रत्येक शुभ कार्य आरम्भ किया जाता है। भगवान गणेश जी को विघ्नहर्ता भी कहा जाता है। सनातन धर्म में 24 दिन ऐसे होते है जो पूर्णतः भगवान गणेश की आराधना के लिए समर्पित है। 

वेदों, पुराणों एवम शास्त्रों के अनुसार वर्ष के प्रत्येक माह में कृष्ण पक्ष की अष्ठमी को कालाष्टमी मनाई जाती है। तदनुसार, सावन माह में कृष्ण पक्ष की कालाष्टमी 6 जुलाई  2018 को है। कृष्ण पक्ष की अष्टमी को कालाष्टमी या भैरवाष्टमी के रूप मनाया जाता है। इस दिन लोग भगवान भैरव जी की पूजा व् व्रत करते है।

हिन्दू धार्मिक ग्रंथो के अनुसार आषाढ़ माह में कृष्ण पक्ष की एकादशी को योगिनी एकादशी व्रत मनाई जाती है। तदनुसार इस वर्ष गुरूवार मंगलवार 9 जुलाई 2018 को योगिनी एकादशी व्रत मनाई जाएगी। 

वेदों, पुराणों एवम शास्त्रों के अनुसार वर्ष के प्रत्येक माह के दोनों पक्षों की त्रयोदशी को प्रदोष व्रत मनाया जाता है। तदनुसार, सावन माह के कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी यानि शुक्रवार 10 जुलाई 2018 को प्रदोष व्रत मनाया जाएगा।

रविवार 11 जुलाई 2018 को मासिक शिवरात्रि है। हिन्दू धर्म में मासिक शिवरात्रि का भी विशेष महत्व है। जहाँ वर्ष में एक महाशिवरात्रि मनाया जाता है वही वर्ष के प्रत्येक महीने में एक मासिक शिवरात्रि मनाया जाता है।

धार्मिक धारणा है की हिन्दू धर्म में भगवान श्री गणेश की पूजा से प्रत्येक शुभ कार्य आरम्भ किया जाता है। भगवान गणेश जी को विघ्नहर्ता भी कहा जाता है। सनातन धर्म में 24 दिन ऐसे होते है जो पूर्णतः भगवान गणेश की आराधना के लिए समर्पित है।अतः वर्ष की हर माह में कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को संकष्टी चतुर्थी 

16 जुलाई 2018 को है कर्क संक्रांति,जानिए व्रत की कथा एवम महत्व

कर्क संक्रांति का हिन्दू धर्म में विशेष महत्व है। भगवान सूर्यदेव का एक राशि से दूसरी राशि में प्रवेश करना संक्रांति कहलाता है और जब भगवान सूर्यदेव कर्क राशि में प्रवेश करता है तो इसे कर्क संक्रांति कहते है।

हिन्दू धर्म में दुर्गापूजा और दुर्गाष्टमी का बड़ा महत्व है। दुर्गापूजा आश्विन माह में मनाया जाता है जबकि मासिक दुर्गाष्टमी प्रत्येक माह में शुक्ल पक्ष की अष्टमी को होती है। इसे मासिक दुर्गाष्टमी या मास दुर्गाष्टमी कहते है। 

हिन्दू धर्म के अनुसार आषाढ़ माह में शुक्ल पक्ष की एकादशी को देवशयनी एकादशी मनाई जाती है। तदनुसार इस वर्ष मंगलवार 23 जुलाई 2018 को देवशयनी एकादशी मनाई जाएगी। 

हिन्दू धर्म के अनुसार आषाढ़ माह में शुक्ल पक्ष की एकादशी को देवशयनी एकादशी मनाई जाती है। तदनुसार इस वर्ष मंगलवार 23 जुलाई 2018 को देवशयनी एकादशी मनाई जाएगी। 

धार्मिक धारणा है की हिन्दू धर्म में भगवान श्री गणेश की पूजा से प्रत्येक शुभ कार्य आरम्भ किया जाता है। भगवान गणेश जी को विघ्नहर्ता भी कहा जाता है। सनातन धर्म में 24 दिन ऐसे होते है जो पूर्णतः भगवान गणेश की आराधना के लिए समर्पित है। 

वेदों, पुराणों एवम शास्त्रों के अनुसार जब मलमास आषाढ़ माह में आता है तो इसे कोकिला अधिक मास कहते है। हिन्दू धर्म में कोकिला अधिकमास का विशेष महत्व है।

धार्मिक ग्रंथो के अनुसार प्रत्येक वर्ष आषाढ़ माह की पूर्णिमा को व्यास जयंती मनाई जाती है। तदनुसार इस वर्ष रविवार 27 जुलाई 2018 को व्यास जयंती मनाई जाएगी। 

आषाढ़ पूर्णिमा को गुरु पूर्णिमा भी कहा जाता है। इस वर्ष गुरु पूर्णिमा रविवार 27 जुलाई 2018 को मनाई जाएगी। गुरु का तात्पर्य ज्ञान से होता है। अतः यह पूर्णिमा मनुष्य मात्र के लिए परम लाभकारी होता है।गुरु पूर्णिमा वर्षा ऋतु के प्रारम्भ में आती है। 

हिन्दू धर्म के अनुसार प्रत्येक वर्ष का सावन माह भगवान शिवजी एवम माता पार्वती को समर्पित है। सावन माह में सोमवारी व्रत का विशेष महत्व है। इस वर्ष सावन माह का दूसरा सोमवारी व्रत सोमवार 28 जुलाई 2018 को मनाई जाएगी।

हिन्दू धर्म के अनुसार प्रत्येक वर्ष का सावन माह भगवान शिवजी एवम माता पार्वती को समर्पित है। सावन माह में सोमवारी व्रत का विशेष महत्व है। इस वर्ष सावन माह का दूसरा सोमवारी व्रत सोमवार 28 जुलाई 2018 को मनाई जाएगी।

हिन्दू धर्म के अनुसार प्रत्येक वर्ष का सावन माह भगवान शिवजी एवम माता पार्वती को समर्पित है। सावन माह में सोमवारी व्रत का विशेष महत्व है। इस वर्ष सावन माह का चौथा सोमवारी व्रत सोमवार 30 जुलाई 2018 को मनाई जाएगी।