4 मार्च 2018 को है शिवाजी जयंती, जानिए छत्रपति शिवाजी महाराज की जीवनी

know shivaji maharaj life story

know shivaji maharaj life story




छत्रपति शिवाजी महाराज का जन्म 19 फ़रवरी 1630 को शिवनेरी दुर्ग में हुआ था। इनके पिता का नाम शाहजी भोंसले और माता का नाम जीजाबाई (राजमाता जिजाऊ) था। शिवाजी बचपन से ही वीर योद्धा थे। उनका प्रारम्भिक जीवन माता जिजाऊ के मार्गदर्शन में बीता। इसी दौरान उन्होंने राजनीति एवं युद्ध की शिक्षा ली थी। छत्रपति शिवाजी महाराज के पिता अप्रतिम शूरवीर थे और उनकी दूसरी माता तुकाबाई मोहिते थीं। शिवाजी कुर्मी जाति से संबन्धित थे जो भोंसले उपजाति से संबंध रखते थे। कुर्मी जाति कृषि संबन्धित कार्य करती है। 4 मार्च को 2018 को है शिवाजी जयंती, जानिए छत्रपति शिवाजी महाराज की जीवनी know shivaji maharaj life story 

पुरन्दर की संधि

शिवाजी के चरित्र पर उनकी माता जीजाबाई और पिता शाहजी भोंसले का बहुत प्रभाव पड़ा। वे बचपन से ही अपने चारों ओर व्याप्त घटनाओँ को भली प्रकार समझने लगे थे। वे बचपन में ही शासक वर्ग की करतूतों पर चिढ़ते थे और समाज की रक्षा हेतु बैचेन हो जाते थे। बाल्य काल से उनके जीवन में स्वाधीनता की लौ प्रज्ज्वलित हो गयी थी। know shivaji maharaj life story

नोसल पोलीप्स साइनस नाक के बढ़े हुए हड्डी का इलाज

छत्रपति शिवाजी महाराज की शादी सन् 14 मई 1640 में सइबाई निम्बालकर के साथ लाल महल, पुना में हुआ था। शिवाजी महाराज ने सन् 1674 तकन सारे प्रदेशों पर अधिकार कर लिया जो पुरन्दर की संधि के अन्तर्गत उन्हें मुग़लों को देने पड़े थे। 4 मार्च को 2018 को है शिवाजी जयंती, जानिए छत्रपति शिवाजी महाराज की जीवनी know shivaji maharaj life story 

जानिए मैहर वाली माता शारदा की कथा एवं इतिहास

पुरन्दर की संधि की अवहेलना के बाद शिवाजी का ध्यान कर्नाटक की ओर गया। मुंबई के दक्षिण में कोंकण और पश्चिम में बेलगाँव तथा धारवाड़ का क्षेत्र,मैसूर, वैलारी, त्रिचूर तथा जिंजी पर अधिपत्य जमाने के बाद 4 अप्रैल, 1680 को शिवाजी का देहांत हो गया। know shivaji maharaj life story 



You may also like...