Tagged: temple

0

वट सावित्री पूजा वर पूजा की कथा एवं इतिहास

वट सावित्री पूजा का शुभ योग बनता है। वैसे अमावस्या और पूर्णिमा चंद्र कैलेंडर में त्योहारों से अधिकांश एक ही दिन पर हो जाता हैं। पूर्णिमा कैलेंडर को मुख्य रूप से उत्तर प्रदेश, मध्य...

0

शनि जयंती का इतिहास व कथा history and story of shanidev jayanti

शनिदेव की जयंती शनि अमावस्या के रूप में जाना जाता है। शनि देव सूर्यदेव केबेटा पुत्र हैं। हमारे देश में उत्तर भारत के लोग में शनि जयंती पुर्णिमा कैलेंडर के अनुसार ज्येष्ठ माह के...

devotional vithobha history 0

विठोबा का इतिहासिक महत्व history-of-vithoba-importance

विठोबा, विट्ठल, और पांडुरंग, तीन नामों से पुकारे जाने वाले भगवान विट्ठल महाराष्ट्र, कर्नाटक, गोवा, तेलंगाना और आंध्र प्रदेश के भारतीय राज्यों में मुख्य रूप से पूजे जाते हैं, भगवान विट्ठल, को आम तौर...

0

माँ कामयख्या देवी मंदिर का इतिहास history-of-maa-kamaykya devi temple

51 शक्तिपीठों में प्रमुख स्थान रखने वाली माँ कामयख्या देवी का मंदिर बेहद खूबसूरत और अपनी एक अलग संस्कृति को लिए हुए भारत वर्ष के पर्वोत्तर में स्थित है। इस मंदिर की महत्वता की...

0

जानिये यमुनोत्री का इतिहास history-of-yamunotri

यमुनोत्री मंदिर गढ़वाल हिमालय के पश्चिम में समुद्र तल से 3235 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। हिंदू भगवान यम के साथ हिंदू देवी यमुना की एक मूर्ति मंदिर में विराजमान है। यम को...

0

बद्रीनाथ मंदिर का इतिहास history-of-badrinatha-mandir

बदरीनाथ मंदिर , जो बदरी नारायण मंदिर नाम से भी जाना जाता है , वह अलकनंदा नदी के किनारे उत्तराखंड राज्य में स्थित है। यह मंदिर भगवान विष्णु के रूप बदरीनाथ को समर्पित है।...

0

पापहरणी लक्ष्मी नारायण मंदिर का इतिहास history-of-papaharani-laksmi-narayaṇa-mandira

पापहरणी लक्ष्मी नारायण मंदिर, बिहार प्रान्त के बांका जिला अंतर्गत बौंसी नगर में स्थित है जो प्रसिद्ध मंदार पर्वत की तराई में अस्थित है। पर्वत के तराई में स्थित यह पावन पवित्र तालाब अपने...

0

बौद्ध धर्म का इतिहास history-of-boudhism-religion

गौतम बुद्ध का जन्म ५६३ ईस्वी पूर्व और मृत्यु ४८३ ईस्वी पूर्व में हुआ था। विश्व के प्राचीनतम धर्मों में से एक बौद्ध धर्म है जिसके परिवर्तक गौतम बुद्ध थे । शाक्य नरेश शुद्धोधन...